Custom Pages
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7']
Portfolio
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7'] [vc_separator type="transparent" position="center" up="12" down="16"]
 

नशा और युवा

नशा और युवा

आज के युवाओं का सबसे बड़ा दुश्मन,
नशे और नशीले पदार्थो का,
ये बुरा संग।
आज के युवाओं नें,
ये कैसा है शौक पाला,
मनमानी है खुद की, या
किसी के उकसाने पर,
अपना हाल ही बदल डाला
ख़ुशी हो या गम के बादल,
एक पैग लगाने की,
कैसी है ये लत।
गर इतने तक ही सीमित होती तो भी चलो कोई बात नहीं,
पर इन नशीले पदार्थो को ही इन्होंने,
अपना जीवन बना डाला।
चरस, गांजा और अफीम,
नए नए मादक पदार्थो के,
आज के युवा बनते जा रहे शौक़ीन।
आज के युवाओं को
ये क्या हो गया है,
क्यों हर एक नौजवान
नशे की लत की दुनिया में खो गया है।
सच कहूँ तो देखकर ये नज़ारा, बहुत कष्ट होता है,
सड़क पर नशे में,
लड़खड़ाता हुआ,
ज़ब कोई शख्स होता है।
नहीं होता है वो अपने होश में,
होता है बस, नशे की जोश में।
हर उस घर परिवार का सुख चैन ही खो जाता है,
परिवार का चाहे एक मात्र सदस्य ही, ज़ब नशे की लत में हो जाता है।
शायद चुपके से ही बिक जाते हैं घर की,
माँ बहनों और पत्नियों के जेवर,
अंदर से शरीर हो गया पूरा खोखला,
पर बढ़ जाते हैं नशे में इनके तेवर।
हाथ जोड़ कर करती हूँ विनती,
दूर रहिये इस मयखाने से,
कुछ हो गया अगर आपको तो,
बहुत दुख-कष्ट मिलेंगे
आपके परिवार वालों को, आपको खो देने से...
तो क्या हुआ मन दुखी हुआ तुम्हारा,
बेरोजगारी के ताने से,
तो क्या हुआ प्यार में दिल टूट गया,
आपका किसी बहाने से,
पर फिर भी मत करो खुद को बर्बाद,
इन नशे और मयखाने से।
कमॉन यार,
इतने कमज़ोर मत बनो तुम,
नहीं चल सकते इनके इशारों पर,
नशे की लत को,
ये दिखा दो तुम।
लड़ लो हर परिस्थितियों से, चाहे किसी तरह
पर हल हाल में दूर रहो इससे,
बर्बाद करदेगी तुम्हे ये नशे की जहर।
गर कुछ गलत लिखी हूँ तो माफ कीजियेगा
उम्मीद और निवेदन करती हूँ,
मेरी इस लेख का कुछ तो असर करेगा,
पढ़कर इसे,
नशे की लत में फंसा युवा,
खुद को संभालने की कोशिश करेगा...
No Comments

Post A Comment