Custom Pages
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7']
Portfolio
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7'] [vc_separator type="transparent" position="center" up="12" down="16"]
 

संगीत का प्रभाव

संगीत का प्रभाव

संगीत का स्वर
ज़ब भी कानों में जाता है,
अन्तरात्माओं में मानों जैसे
एक हलचल सा छा जाता है।
संगीत बिना सबकुछ
सुना है,
बिन संगीत, मानो
जीवन ही अधूरा है।
हर तरह के माहौल को
रंगीन बना देती है,
एक अलग सा ही अनुभूति करा कर,
संगीत जीवन को
हसीन बना देती है।
दुखित मन को सुकून देती है,
शांत संगीत ज़ब कानों
में गूँज उठता है।
जीवन में त्योहारों की खुशियों को दोगुना
कर देती है,
भजन रूपी संगीत, भक्ति-शक्ति की सकारात्मक
ऊर्जा प्रदान कर,
मन में एक अलग ही जूनून भर देती है।
अनेकों समारोह में
जान डाल देती है,
तीव्र ध्वनि वाली ही सही
संगीत माहौल में
चार चाँद लगा देती है।
खुशियों को दोगुना कर
गमों को बाँट लेती है,
संगीत का प्रभाव कुछ ऐसा ही है।
एक अलग ही एहसास कराकर
बड़े आसानी से दिलों में झाँक लेती है।
कुछ तो नशा है इस संगीत में
यूँ ही नहीं हर कोई बड़े
आसानी से संगीत
का दीवाना हो जाता है।
जो भी इसे सुनकर महसूस करता है,
संगीत का प्रभाव ऐसा ही है,
कि हर सख्श इस संगीतमयी दुनियाँ में खो जाता है।
No Comments

Post A Comment