Custom Pages
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7']
Portfolio
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7'] [vc_separator type="transparent" position="center" up="12" down="16"]
 

जश्न-ए-आज़ादी

जश्न-ए-आज़ादी

आज़ादी का जश्न है,
देखो आज फिरसे तिरंगा लहराया है।
उन वीरो की गाथा सुना रहा है,
जिन्होने मरते दम तक इस देश का साथ निभाया है।
जो जंग के मैदान मे गिर पड़े,पर तिरंगे को न गिरने दिया,
जो लहू लुहान हो गए, पर फिर भी तिरंगे में एक धूल का कंकर न लगने दिया।
स्वतंत्र करवाया हमे एक गणतंत्र भारत मिला,
आज हम जो भारतीय है वो शान भी उन्होने ही दिया।
ये तिरंगा हमारी शान है और यही हमारा वजूद,
उसके रंग हमारी पहचान है और यही हमारी नमूद।
चक्र इसका हम हिन्दुस्तानियो का अनन्तता का प्रतीक है,
श्वेत रंग इसका हम अलग जाति की संस्कृतियो को जोड़े रखती है।
गर्व है उन जवानों पे जिन्होंने इस देश को सींचा है,
गर्व है उस माँ पे जिसने देश के लिए अपने बेटे को कुर्बान कर दिया।
गर्व है उस युवा पे जिसने इस देश की उनती के लिए अपना हर रोज़ एक संघर्ष मे बदल दिया,
गर्व है इस भारत पे जिसने इस मिट्टी को सोना बना दिया।
No Comments

Post A Comment