Custom Pages
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7']
Portfolio
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7'] [vc_separator type="transparent" position="center" up="12" down="16"]
 

तू तू है वहीं दिल ने जिसे अपना कहा

तू तू है वहीं दिल ने जिसे अपना कहा

तू तू है वहीं दिल ने जिसे अपना कहा,
तेरे बिन मुझे लागे सारा सुना जहाँ,
अब तो ना तरसा सनम तू अब आजा,
आकर मेरे दिल में समा जा।
क्यों दिल तू मेरा तोड़ा,
सारे रिश्ते मुझसे तोड़ा,
बेकरारी रहने के बाद भी मेरा दिल,
तेरे सपनो को दिल में जोड़ा।
समय की ओर सिसकते हुए,
मेरे दिल नगमा गाए,
आज ढूंढ रही हूँ उन पलों को
जो तेरे संग बिताए।
आएगा वो कभी तो मेरे सपनो को
शीतल करने,
जीवन के सपने संजोकर कुछ भी
कर जाऊंगी तुझे हासिल करने।
ये जो रिश्ता है तेरे मेरे दरमियान
बस एक मुलाकात की ख्वाहिश
रखता है,
मेरा दिल उस हसीन पल को याद
कर संवरता है।
अब ना तरसा सनम तू अब आजा..
तू तू है वहीं दिल ने जिसे अपना कहा...
No Comments

Post A Comment