Custom Pages
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7']
Portfolio
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7'] [vc_separator type="transparent" position="center" up="12" down="16"]
 

स्क्रीनशॉट

स्क्रीनशॉट

लिया भाग एक प्रतियोगिता में
कहा गया पैसे लगाने होंगे इसमें,
पैसे भेजने के बाद भेजना होगा, लेकर
अपने मोबाइल से स्क्रीनशॉट तुम्हें।
मन अपना घबराया कुछ इस तरह से
होती है हवा ढीली पहली कक्षा में एक बच्चे की जैसे,
हमें तो आता था सिर्फ़ कॉल और मेसज़ का लेन-देन
स्क्रीनशॉट लेना ना अपने बस की, रहा सोच मेरा ज़हन।
देख मुझे यूँ व्यथित, मेरा बेटा हो रहा था चकित
आकर पूछा उसने मुझे “बाबा क्यूँ हो रहे हो भ्रमित?”,
एक बालक के सामने सर हो रहा था मेरा लज्जित
लगा सोचने, किस ज्ञान पर, हो रहा था मैं दिग्भ्रमित।
बैठ गया बन चेला बालक का, रख मोबाइल सुसज्जित
दिया हँस वो लोट-पोट हो, सुनी जब मेरी स्तिथि व्यथित,
पर दिया सिखा मुझे मोबाइल से स्क्रीनशॉट लेना
जैसे कर रहा हो मेरा जीवन तकनीकों से सुसज्जित।
एक मोबाइल में है होती इतनी सुविधाएँ
जो ना मिले सभी को एक जगह व्यवस्थित,
आख़िरकार गुणगान करता इस सुविधा का
भेज दिया स्क्रीनशॉट आयोजक को, हो बिलकुल निश्चिंत।
आज स्क्रीनशॉट की वजह से, हुई आसान ज़िंदगी सबकी
हो जब मन तस्वीर या चलचित्र लेने दृश्यत लम्हों का
बस कर दो शुरू काम स्क्रीनशॉट से लेने उनकी प्रति।
हर तकनीक के साथ जुड़ा होता है उसका काला सच भी
सीखा यही मैंने जब लिया समझ कलाकारी स्क्रीनशॉट की,
ग़र ना हो सामनेवाला होशियार विडीओ कॉल पर
आ सकती है उसकी तस्वीर या विडीओ कभी भी इंटर्नेट पर।
कहना चाहता है मेरा मन, इन रोज़ बदलती तकनीकों पर
सीखो ज़रूर नयी चीजें, परंतु रखो सावधानी उनसे उम्र भर,
कहीं ना हो जाए कोई किसी की शाज़िश का शिकार यहाँ पर
है प्रार्थना आप सभी से, इस्तेमाल करो स्क्रीनशॉट का संभल कर।
No Comments

Post A Comment