Custom Pages
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7']
Portfolio
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7'] [vc_separator type="transparent" position="center" up="12" down="16"]
 

October 2020

  • All
  • Adult
  • Adventure
  • Animal
  • Art
  • Article
  • Author Interview
  • Autobiography
  • Biography
  • blogcontent
  • Books
  • Broken Heart
  • Business
  • Career
  • Children
  • Consciousness
  • Covid 19
  • Craft
  • Crime
  • Daily Contest
  • Devotional
  • Diary
  • Diwali Special
  • Drama
  • Dreams
  • English
  • entertainment
  • Essay
  • examinations
  • Fantasy
  • Father's Day
  • Feminism
  • festivals
  • Fiction
  • Food
  • Friendship
  • Happiness
  • Health
  • Hindi
  • History
  • Honesty
  • Horror
  • Inspiration
  • Letter
  • Life
  • Literary
  • Literature
  • Love
  • Memoir
  • Memories
  • Miscellaneous
  • Monthly Contest
  • Monument
  • Mother's Day
  • Motivational
  • Music
  • Mystery
  • Narrative
  • Nature
  • Navratri Special
  • New Contest
  • New Year
  • News
  • Non-fiction
  • Novel
  • Open Letter
  • Others
  • Paranomal
  • Patriotism
  • People
  • Philosophy
  • Photography
  • Picture Contest
  • Poetry
  • Prize
  • Prose
  • Prose Poetry
  • Psychology
  • Relations
  • Romance
  • Science
  • Self-help
  • Selfdoubt
  • Shayari
  • Social Challenge
  • Special Contest
  • Spell Bounded
  • Sport
  • Stanza
  • Story
  • success
  • Super Sunday
  • Suspense
  • Teach
  • Technology
  • Thriller
  • Tragedy
  • Travel
  • Tribute
  • Video
  • Weekly Contest
  • Winter Special

दर्शित करता नाम मेरा, माँ के बरसो के इंतज़ाम को। करता इंगित मेरे संघर्ष की, जीत हार वाली शाम को। ब्याह हुआ तो कहा था कि, जीवन संग नाम भी बदलेगा। कर्म तुम्हारे होंगे सार्थक, जीवन उससे ही सम्भलेगा। तब से कोशिश कर लेती थी, कि सब रिश्ता खुश...

सपना देखा था एक दिन मैंने एक लेखक बनने का। पर जब कलम उठायी तो कुछ समझ नहीं आता था। सोचता था क्या लिखूं इस कागज़ के टुकड़ो पर। बस मुझे सिर्फ मेरे सपनों का रास्ता नज़र आता था।। ना जाने कितनी बार लोगो ने मेरा मज़ाक उड़ाया था।मुझे...

रेलगाड़ी की खिड़की से आती ठंडी हवा के झोंकें, मेरे गालों पर हल्की सी थपकियाँ दे रहे थे। शायद, इसी वजह से मेरी नींद टूट गयी। आँख खोल कर देखा तो रात के आठ बज गए थे। मैं हर रोज़ इसी वक़्त, इसी ट्रैन से...

8 साल की राशि अपनी दादी के साथ रोज मंदिर जाती थी । दादी के हाथ में पूजा की थाली और जल से भरा लोटा होता तो राशि के हाथ में फूलों की छोटी सी टोकरी राशि हर रोज अपनी बालकनी में लगे गैंडे, चमेली...

ये कहानी मेरे जीवन की है। मैं अपनी ज़िंदगी जीने वाली एक खुश मिज़ाज़ लड़की थी जिसे ना तो किसी चीज़ की परवाह थी न टेंशन। मेरा जीवन खुले किताब की तरह था। जिसमे सिर्फ खेलना ,खुदना, पढ़ना, मस्ती करना बस यही था मेरे जीवन...

आज सामाजिक रस्मो के मुताबिक अथर्व-वेदिका के रिश्ते की बात तय होने से जहाँ एक ओर ख़ुशी का माहौल चरम पर था, हो भी क्यों न दोनों परिवारों के लाडले थे उनकी नयी ज़िन्दगी की शुरुवात हो रही। एक तरफ जहाँ वेदिका सामाजिक रिवाज़ों से परे...

आईने के सामने खड़ी होकर, 6 साल की अनन्या ने अपने बाल कैन्ची से काट डाले, इतने छोटे के हाथों में भी पकड़ नहीं आ रहे थे। तभी माँ चिल्लाते हुए आयी (कैन्ची छीनते हुए) हाय, हाय! अनन्या ये क्या किया? ये बाल क्यूँ काट रही...

ये कहानी है विनय नामक एक विद्यार्थी की। विनय बचपन से ही अंग्रेजी भाषा के विषय में कमजोर था। वह जितना हिंदी में बेहतर लिख पाता था उतना ही उसकी आकांक्षा अंग्रेजी़ में भी लिखने की होती थी किंतु वह चाह कर भी उस विषय...

तुम्हारे पास होने से मुझे मेरा जीवन पूरा लगता है। तेरे साथ से मुझे मेरी हर मुश्किल का हल मिलता है। अनजाने सफर में तेरा विश्वास मेरी हिम्मत बनता है। तुम्हारे साथ के बिना मुझे मेरा जीवन अधूरा लगता है।। तुम्हारा मुझे मिल जाना अब तक सपना सा लगता...

उनके न होने से मेरे जीवन मे उदासी छा जाती है।न जाने क्यों उनके दूर जाने से मेरी जान जाने लगती है।कहने को तो दुनिया के लिए कुछ रिश्ता नही है मेरा उनसे।मुझसे पूछो तो उनके ना होने से उदासी छा जाती है।। उनके पास होने...