Custom Pages
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7']
Portfolio
[vc_separator type='transparent' color='' thickness='' up='20' down='7'] [vc_separator type="transparent" position="center" up="12" down="16"]


Hindi

कालिदास की नायिका

Meena Anand
Posted on
रात सुहानी है, तारों की रवानी है। पूर्णिमा का पूर्ण मयंक, लुटा रहा है किरणें धवल। सामने पर्वतमाला पर…

Hindi

लेखक

Meena Anand
Posted on
अपने मन के भावों को, कागज़ पर उतारने की कला में, जो है सक्षम।…

Hindi

चांद के उस पार

Meena Anand
Posted on
चांद के उस पार, मेरे सपनों का सुनहरा संसार। सपने जो देखे थे बचपन…

Hindi

असहज बनाता है

Madhuri Rathore
Posted on
कैसे करूं मैं अपने दर्द को बयां, जो सच में, मुझे बहुत ही असहज…

Drama

तवायफ़

Khagendra Kumar Sengar
Posted on
अकेली लड़की को कोई क्यों नहीं अपनाता? वो हुई अकेली, क्योंकि उसके घरवालों ने…

गहरे सपने


Meena Anand


कालिदास की नायिका

रात सुहानी है, तारों की रवानी है। पूर्णिमा का पूर्ण मयंक, लुटा रहा है किरणें धवल। सामने पर्वतमाला पर भी, छिटक रही …



February 21, 2021

Hindi, Poetry



Meena Anand


लेखक

अपने मन के भावों को, कागज़ पर उतारने की कला में, जो है सक्षम। जिसका हृदय समाज में होने वाली,  छोटी बड़ी …



February 21, 2021

Hindi, Poetry



Meena Anand


चांद के उस पार

चांद के उस पार, मेरे सपनों का सुनहरा संसार। सपने जो देखे थे बचपन में, उन्हें करना है साकार। इस निर्मोही दुनिया …



February 21, 2021

Hindi, Poetry



Madhuri Rathore


असहज बनाता है

कैसे करूं मैं अपने दर्द को बयां, जो सच में, मुझे बहुत ही असहज बनाता है। पूछता है? मेरा दिल बार-बार उन …



February 21, 2021

Hindi, Love, Weekly Contest



Khagendra Kumar Sengar


तवायफ़

अकेली लड़की को कोई क्यों नहीं अपनाता? वो हुई अकेली, क्योंकि उसके घरवालों ने उसे नहीं अपनाया, इसमें उसका दोष कैसे? वो …



February 21, 2021

Drama, Hindi, People, Poetry



Meena Anand


पबजी

पढ़कर आज की कविताएं, क्या है पबजी, काफी कुछ समझ में आ गया है। मन बहुत हुआ चिंतित, यह तो कोरोना से …



February 20, 2021

Hindi, Life, Poetry



Meena Anand


बच्चे की मुस्कान

कल्पना करते ही, अपने चेहरे पर भी आ जाती है मुस्कान। इतनी निश्छल, इतनी निर्मल , इतनी पावन, इतनी मनभावन  होती है …



February 20, 2021

Happiness, Hindi, Poetry



Meena Anand


मुझे खुद से प्यार है

काश खुद से प्यार किया होता, तो ज़िंदगी का नक्शा  कुछ और होता। हर ग़लती के लिए खुद को, कसूरवार ना ठहराया …



February 20, 2021

Hindi, Love, Poetry



Meena Anand


मैं तुम्हारा साथ दूंगी

अब तक रहा है साथ हमारा, स्नेहसिक्त, प्यारा-प्यारा। जिसमें ना था मेरा तुम्हारा, सब कुछ था हमारा- हमारा। वह अपनत्व का एहसास, …



February 19, 2021

Hindi, Love, Poetry



Meena Anand


पुकार

हे कृष्ण कन्हैया, बंसी बजैया, अब तो ब्रज में आ जाओ। तप्त हृदयों के मन की तृषा, अब तो प्रभु मिटा जाओ। …



February 19, 2021

Hindi, Life, Poetry



Meena Anand


तुम्हारी तलाश में

मुझे तेरी ही है तलाश, तेरी ही है जुस्तजू। इस लोक में ही तुझे पा सकूं, प्रभु इतनी-सी है आरज़ू। भटकती रही …



February 19, 2021

Hindi, Life, Poetry



Anku Parashar


ग़ुलाम

श्मशान में तपते हुए, तेरे नाम जपते हुए,सब ग़ुलाम बैठे थे, मैख़ाने में तमाम बैठे थे!बात चल रही थी तेरे ही जिस्म …



February 19, 2021

Hindi, Poetry, Weekly Contest



Meena Anand


मेरे नज़रिए से

मेरे नज़रिए से देखोगे तो, बदल जाएगा आपका भी नज़रिया। मेरे नज़रिए से सोचोगे तो, जीने का ढंग भी हो जाएगा बढ़िया। …



February 18, 2021

Hindi, Life, Poetry



Meena Anand


प्रकृति

यह कैसा है मंज़र, कैसा यह नज़ारा है, रात तारों से भरी, चांदनी का पसारा है। पूनम का चांद भी बिखेर रहा …



February 18, 2021

Hindi, Nature, Poetry



Meena Anand


नयी पहचान

नया फरमान मुबारक हो, नई पहचान मुबारक हो। आपने उठाया है जो यह नया कदम, हम भी चलेंगे संग आपके, मिलाकर कदम …



February 18, 2021

Hindi, Poetry